आधी रात कपल के किचन से आने लगी अजीबोगरीब आवाजें, झांक कर देखा तो मुंह में आ गया कलेजा

Share Now To Friends!!

इंसानों ने अपने स्वार्थ के लिए जंगलों की अंधाधुंध (Deforestation) कटाई कर डाली. इस वजह से कई जानवरों को अपने नेचुरल हैबिटेट (Natural Habitat) से हाथ धोना पड़ गया. जंगलों की कटाई के कारण उनके पास खाने-पीने के लाले पड़ गए हैं. इस वजह से खाने की तलाश में अक्सर जंगली जानवर इंसान के घरों तक आ धमकते हैं. जब जानवर इंसानों की बस्ती तक आ जाते हैं तो इंसान अपनी गलती मानने की जगह उन्हें ही मारकर भगाने लगता है. हाल में थाईलैंड के हुआ हीन में एक जंगली हाथी आधी रात एक कपल के घर के अंदर घुस गया. वो भी किचन की दीवार तोड़कर.

हाथी का नाम प्लाई बुन्हुयाय (Plai Bunchuay) बताया जा रहा है. उसने रात के दो बजे वहां रहने वाली रचडवान फुंगपरसोप्पोरन (Rachadawan Phungprasopporn) के घर धावा बोल दिया. हाथी ने घर के किचन की दीवार को गिरा दिया और सूंड अंदर कर चावल की बोरी से अनाज चुराकर खाने लगा. जब कपल को रात में किचन से आवाजें आई, तब उन्होंने अंदर झांक कर देखा. वहां हाथी को अनाज खाते देख उन्होंने इसका वीडियो बनाया और उसे सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया, जहां से ये वायरल हो गया.

महिला ने बताया कि हाथी को देखते ही उसके और उसके पति के होश उड़ गए थे. हाथी ने किचन की दीवार गिरा दी थी. जब उन्होंने हंगामा किया तो हाथी अंदर जंगल की तरह भाग गया. बताया जा रहा है कि इस हाथी ने दो महीने पहले उस इलाके की रेकी की थी. उसे कई लोगों ने मोहल्ले में देखा था. लेकिन तब वो चुपचाप से चला गया था. अब आधी रात घर पर धावा बोल उसे खाना चुराते पकड़ा गया. इसके बाद कपल ने लोकल वाइल्डलाइफ ऑफिसर्स को जानकारी दी.

कपल ने बताया कि किचन की दीवार बनवाने में अब उन्हें अच्छे-खासे पैसे खर्च करने पड़ेंगे. वहीं अधिकारियों ने उन्हें बस घर में राशन ना रखने की हिदायत देकर पल्ला झाड़ लिया. थाईलैंड में जंगली हाथियों के प्रकोप से हर साल लोगों को परेशानी उठानी पड़ती है. खाने की तलाश में ये हाथी शहरों में आ जाते हैं और तबाही मचाते हैं. इसे लेकर कंज़र्वेशन ऑफिसर सुपनया चेन्गसुता ने बताया कि हाथी खाने की स्मेल से अट्रैक्ट होकर घरों में आ जाते हैं. फिर खाने की तलाश में घरों में तोड़फोड़ करते हैं.

Published by:Sandhya Kumari

First published:

Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment