कहीं पर भी पैसा लगाने से ज्यादा जरूरी है अभी हाथ में कैैश रखना, जानिए पैसों से जुड़ी 7 काम की बातें

Share Now To Friends!!

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus Impact) की वजह से देश की अर्थव्यवस्था (Indian Economy) को भारी नुकसान हो रहा है. इसी वजह से पिछले कुछ दिनों में घरेलू शेयर बाजारों (Indian Stock Market) तेजी गिरे है. 15 दिन में सेंसेक्स-निफ्टी 40 फीसदी तक लुढ़क गए है. ऐसे में ज्यादातर लोग यहीं सवाल पूछ रहे हैं कि मुझे क्या करना चाहिए? क्‍या यह मौका है? क्‍या पहले ही खरीदे गए शेयरों को और खरीदना चाहिए? एक्सपर्ट्स कहते हैं कि दुनिया जिस महामारी का सामना कर रही है, वह अलग है. इतनी अलग जितनी हमने कभी नहीं देखी. हम सभी को अब भी सीखना है कि आगे क्‍या करना है.

(1) एसकोर्ट सिक्योरिटी के रिसर्च हेड आसिफ इकबाल का कहना है कि मौजूदा समय में सिर्फ एक चीज मायने रखती है कि आपके हाथ में कैश कितना है. इस बात को समझें कि लुढ़कते बाजारों से पैसा निकालना या इसमें निवेश करना कठिन है. अगर आपके पास कैश नहीं है तो पैसा निकाल लें, भले इसमें नुकसान हो रहा हो. वहीं, बैंक में अगर पर्याप्‍त नकदी है तो पैसे को लगा रहने दें.

ये भी पढ़ें: 14 अप्रैल तक नहीं चलेगी कोई ट्रेन, ऑनलाइन बुकिंग का पैसा मिलेगा वापस

(2) यह निवेश का फैसला लेने का समय तो बिल्‍कुल नहीं है. जब आगे का रास्‍ता नहीं दिख रहा हो तो उस दिशा में चलना वैसा ही जैसे आप अंधेरे में बिना टॉर्च के निकल पड़ें. यह सरासर बेवकूफी होगी. सच पूछिए तो अभी हम वॉर जोन में हैं और जिंदा रहना हमारी शीर्ष प्राथमिकता है. आपके पास अभी कम से कम तीन महीनों के घर खर्च के लिए पर्याप्‍त नकदी होनी चाहिए. इसमें इलाज का खर्च शामिल होना चाहिए.(3) दुुनियाभर में कारोबारी गतिविधियां थम गई है. कंपनियों ने इससे निपटने के उपाय किए हैं. कुछ ने कर्मचारियों को घर से काम करने की छूट दी है. कई ने टीम एक्टिविटी कम कर दी है. बेहद खराब स्थितियों ने उन्‍होंने प्रभावित देशों में काम को फिलहाल के लिए स्‍थगित कर दिया है.

(4) बतौर निवेशक आपको समझना चाहिए कि इनका आर्थिक गतिविधियों पर असर होगा. बाजार लुढ़क रहे हैं, क्‍योंकि उन्‍होंने इसकी अपेक्षा नहीं की थी. जब तक कि आप कोई बिजनेस नहीं चला रहे हैं. इस समय कोई आर्थिक फैसला नहीं लें. अभी न तो कोई एसेट बेचें न अपने निवेश में कोई बदलाव करें. बस यथास्थिति को बनाए रखें.

(5) जब स्थितियां सामान्‍य न हों तो मदद करने के लिए तैयार रहें. अगर आपके आस-पड़ोस में कोई बुजुर्ग नागर‍िक है तो उनके साथ संपर्क बनाकर रखें. इस बात को देखें कि कहीं उनको आपकी जरूरत तो नहीं है. यह महामारी हमें एक साथ बड़े समूह में रहने नहीं देगी. इसके लिए सोशल मीडिया का सहारा लें. जितना संभव हो, लोगों को जागरूक करें.

(6) क्‍या आप ऐसी कंपनी में काम करते हैं जो छुट्टी या बंद होने पर भी सैलरी देती है? क्‍या आपको भरोसा है कि आपकी नौकरी इस बुरे दौर में भी बनी रहेगी? अगर हां तो आप सौभाग्‍यशाली हैं. अपनी इनकम का मूल्‍यांकन करें और खराब दिनों की तैयारी करें. संकट जब अपने शीर्ष पर होगा तब आपकी वेल्‍थ यानी दौलत काम आती है.

(7) अगर आपसे पड़ोस के अस्‍पताल में इच्‍छा से सेवा देने के लिए कहा जाए तो जरूर दें. अगर आप फूड वेस्‍ट को हटाने के लिए कोई एप क्रिएट कर सकते हैं तो करें. अगर आप कोई बुलेटिन बोर्ड तैयार कर सकते हैं जिसमें संक्रमित होने वालों की संख्‍या बताई जाए तो तैयार करें. मुश्किल समय में समाज को आप अपना योगदान जैसे दे सकते हैं, जरूर दें.

ये भी पढ़ें: कोरोना की वजह से नहीं जा पा रहे ATM तो ऐसे घर बैठे मंगवा सकते है पैसे!

Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment