कोरोना से भी खतरनाक वायरस बना रहा है चीन, अबकी तो बर्बाद करके रख देगा पूरी दुनिया

Share Now To Friends!!

चीन लैब में कई ऐसे प्रयोग कर रहा है जो दुनिया के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है

दुनिया को कोरोना (CoronaVirus) से त्रस्त करने के बाद भी चीन (China) को सुकून नहीं मिला है. अब एक पत्रकार (Journalist) ने दावा किया है कि चीन अपने लैब में नए-नए रिसर्च कर खतरनाक जानवर पैदा कर रहा है. ये आगे कोरोना से भी ज्यादा भयंकर बीमारी फैला सकते हैं.

जब से कोरोना फैला है, तब से चीन पर इस वायरस (Virus) को लेकर सच छिपाने का आरोप लगता आया है. कई साइंटिस्ट्स ने कहा कि ये वायरस चीन में लैब (ManMade Virus) में बनाया गया है लेकिन चीन ने अभी भी नहीं माना है कि उसने वायरस को बनाया है. अब लेखक और पत्रकार जैस्पर बेकर (Jasper Baker) ने दावा किया है कि चीन अपने देश के लैब में कई ऐसे प्रयोग कर रहा है जो दुनिया के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है.

बेकर ने दावा किया है कि वुहान (Wuhan) में लैब के अंदर कई खतरनाक जानवर बनाए जा रहे हैं. ये जेनेटिकली इंजीनियर्ड (Genetically Engineered) जानवर हैं जिसमें बन्दर और खरगोश शामिल है. इन्हें इंजेक्शन (Injection) लगाकर इनके जीन्स में बदलाव किया जाता है. इससे कुछ ऐसे वायरस पैदा होते हैं जो इंसानों को खत्म तक कर सकते हैं. चीन को इन सब खतरों का पता है. बावजूद इसके वो अपने लैब्स में इन रिसर्च को करने की अनुमति दे रहा है.

पूरी दुनिया में बैन हैं ये रिसर्च

बेकर ने बीते 20 साल तक चीन को कवर किया है. इस दौरान उन्होंने पाया कि चीन के लैब में खतरनाक वायरस बनाए जाते हैं. द मेल को दिए इंटरव्यू में बेकर ने बताया कि चीनी वैज्ञानिक लैब में खतरनाक वायरस बना रहे हैं. ये क्यूँकि ये वायरस काफी नुकसान फैला सकते हैं. दुनिया के लगभग सभी देशों में इस तरह के प्रयोग जो खतरनाक वायरस बना सकते हैं बैन हैं. लेकिन चीन इन को प्रयोगों को और बढ़ावा देता है. ऐसे में चीन के लैब में खतरनाक वायरस हैं. इनमें से कुछ तो कोरोना से भी ज्यादा खतरनाक है.सरकार दे रही बढ़ावा

चीन में हो रहे इन खतरनाक रिसर्च को खुद वहां की सरकार ही बढ़ावा दे रही है. पीपुल्स लिबरेशन आर्मी इन रिसर्च को कवर करते हैं. इसमें ऐसे हथियार बनाए जा रहे है जिसका कोई इलाज नहीं है. चीन बंदरों पर रिसर्च करता है और उन्हें कई तरह के इंजेक्शन देता है क्यूंकि बंदरों को इंसान के जीन से मिलता-जुलता बताया जाता है.





Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment