जुड़ुवा कौव्वों की जबरदस्त गुंडागर्दी, मोहल्ले भर को बंधक बनाकर खुद कर रहे हैं राज

Share Now To Friends!!

जुड़ुवा कौव्वों के चलते मोहल्ले में लोग आतंकित हैं.

दोनों शैतान कौव्वे (Hostile Crows) बेहद स्मार्ट हैं. वो लोगों पर कई बार अटैक (Hostile Crows Attacking on People) भी करते हैं और उनकी गाड़ियों पर चोंच मारकर स्क्रैच कर देते हैं.

सड़क पर कुत्तों का आतंक (Terror Of Stray Dogs) आपने देखा होगा, लेकिन अब तक नहीं सुना होगा कि किसी जगह के लोग कौव्वों (Crows) से इतने त्रस्त हो जाएं कि उन्हें घर में कैद होना पड़ जाए. सुनने में ये भले ही अजीब लग रहा हो, लेकिन ऐसा हो रहा है ब्रिटेन (Britain) में. यहां के एक मोहल्ले में कौव्वों ने लोगों की नाक में दम कर रखा है. हालात ये हैं कि कौव्वे तो बेफिक्र यहां-वहां उड़ रहे है लेकिन लोग घरों में या तो बैठे हुए हैं या फिर अपने सामान की रखवाली कर रहे हैं.

पूर्वी लंदन (East London) के डर्बी (Littleover in Derby) इलाके में एक जगह है लिटिलओवर. यहां के कार्लिस्ले एवेन्यू (Carlisle Avenue) के रहने वाले लोगों की ज़िंदगी में दो कौव्वे जब से आए हैं, तब से उनका जीना हराम कर रखा है. इन लोगों ने दोनों कौव्वों के निकनेम भी रखे हैं- रॉनी और रेगी (Ronnie and Reggie). इन लोगों का अब ज्यादातर वक्त यही सोचने में गुजरता है कि आखिर कैसे इन शैतान कौव्वों (Hostile Crows) से निजात पाई जाए.

2 कौव्वों से हलकान है पूरा मोहल्ला

दोनों शैतान कौव्वे (Hostile Crows) कभी सड़क पर खड़ी कारों में स्क्रैच मार देते हैं और कभी विंडस्क्रीन और वायपर्स को तोड़ देते हैं. पहले तो लोगों को यकीन ही नहीं होता था कि ये काम वाकई कौव्वों ने किया है. उन्हें लगता था कि गाड़ियों में स्क्रैच और तोड़-फोड़ टीनएजर्स कर देते हैं. हालांकि बाद में ये बात सामने आई कि पड़ोस में रहने वाले दो कव्वे उनकी चीजों को नुकसान पहुंचा रहे हैं. उन्होंने आने-जाने वाले लोगों पर भी अटैक (Hostile Crows Attacking on People) किया, तब से मोहल्ले वालों ने उन्हें रॉनी और रेगी (Ronnie and Reggie) का नाम दे दिया. यहां रहने वालों का कहना है कि दोनों पक्षी उनकी गाड़ी की खिड़की पर अपनी चोंच मारते रहते हैं.ये भी पढ़ें- ताज़ी हवा लेने के लिए आधी रात को ‘भूत’ ने खोली खिड़की, CCTV फुटेज देख खौफ में आया शख्स 

किसी से नहीं डरते कौव्वे

कौव्वों को डराने के लिए लोगों ने Scarecrow का भी सहारा लिया, लेकिन वे इससे भी नहीं डरे. यहां रहने वाली जूली बैनिस्टर कहती हैं कि उन्हें 4 हफ्ते के अंदर 2 बार अपनी विंडस्क्रीन का वायपर बदलना पड़ा है. लोगों कौव्वों पर एक्शन न लेने के लिए पुलिस पर भी अपनी नाराज़गी ज़ाहिर कर रहे हैं. अपनी तरफ से वे चीजों को ज्यादातर ढककर रखते हैं. उन्हें लगता है कि अपनी परछाईं देखकर ही कौव्वे ज्यादा गुस्से में आ जाते हैं और उस पर चोंच मारने लगते हैं. वो बात अलग है कि इससे इन शैतान कौव्वों पर ज्यादा असर होता नहीं दिखाई दिया है. लोगों ने उनके लिए खाना भी रखना शुरू कर दिया, ताकि वे चीजों का नुकसान न करें लेकिन बदमाश कौव्वे अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आ रहे हैं.





Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment