टोक्यो ओलंपिक में खिलाड़ियों को बांटे जाएंगे डेढ़ लाख कंडोम, क्या पलंग की तस्वीर देखी आपने?

Share Now To Friends!!

कंडोम पर विवाद के बाद आयोजनकर्ताओं ने मामले पर सफाई दी है

समर ओलंपिक (Summer Olympics) की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं. दुनियाभर से आने वाले खिलाड़ियों के रहने के लिए बेहतरीन इंतजाम किये गए हैं. इस दौरान इन खिलाड़ियों को लगभग डेढ़ लाख कंडोम (1,50,000 Condoms) बांटे जाएंगे. लेकिन सोने के लिए बनाए पलंग को देखकर खिलाड़ियों ने कंडोम को बेकार बताया है.

23 जुलाई से टोक्यो (Tokyo) समेत ओलंपिक की शुरुआत की जाएगी. ये आयोजन 8 अगस्त तक चलेगा. दुनिया के कई देशों के खिलाड़ी इसमें हिस्सा लेने के लिए टोक्यो पहुंचेंगे. ऐसे में इनके रहने के लिए खेल आयोजन समिति ने टोक्यो एथिलीट विलेज (Tokyo Athlete Village) बनाया है. इस गांव में खिलाड़ियों के रहने से लेकर उनकी सुख-सुविधाओं की सभी चीजों का ध्यान रखा गया है. शॉपिंग कॉम्प्लेक्स (Shopping Complex) से लेकर रेस्त्रां तक इस गांव में बनाया गया है. लेकिन अब जो जानकारी सामने आई है,वो बेहद शॉकिंग है.

टोक्यो समर ओलंपिक में आए खिलाड़ियों को लगभग डेढ़ लाख कंडोम बांटे जाएंगे. खेल के आयोजनकर्ताओं ने कोरोना के दौर में खिलाड़ियों के बीच इतने कंडोम बांटने का टारगेट रखा है. लेकिन जैसे ही खिलाड़ियों के लिए बनाए गए कमरे की तस्वीरें सामने आई, खिलाड़ियों ने कंडोम को बेकार ही बता दिया. दरअसल, खिलाडियों के लिए बनाए गए कमरों में कार्डबोर्ड के बिस्तर बनाए गए हैं. ये बेहद कमजोर है और खिलाड़ियों का भार ही उठा ले वही बहुत है.

कार्डबोर्ड के बने हैं पलंग

टोक्यो ओलंपिक्स में खिलाड़ियों के लिए जो कमरे बनाए गए हैं, उसकी तस्वीरें सामने आई हैं. इसमें खिलाड़ियों के सोने के लिए कार्डबोर्ड के पलंग बनाए गए हैं. ये पलंग काफी छोटे और कमजोर हैं. ऐसे में खिलाड़ियों ने आपत्ति भी दर्ज की है कि अगर ये पलंग उनका ही भार उठा ले वही बहुत है. इसके अलावा खिलाड़ियों के लिए अलग से डाइनिंग एरिया और शॉपिंग काम्प्लेक्स भी बनाए गए हैं. कोशिश की गई है कि खिलाड़ियों को कोई तकलीफ ना हो.tokyo olympics bed

कोविड में कंडोम पर बवाल

इस साल कोरोना के बीच ओलंपिक के आयोजन पहले से ही विवादों में है. इस बीच खिलाड़ियों को सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करने को कहा गया है. लेकिन दूसरी तरह खिलाड़ियों के बीच डेढ़ लाख कंडोम बेचना विवादों में आ गया है. लोगों का सवाल है कि अगर सोशल डिस्टेंसिंग के बीच खेल का आयोजन करवाया जा रहा है तो इतने कंडोम क्यों बांटे जा रहे हैं? इस विवाद के बाद आयोजकों ने सफाई में कहा कि ये कंडोम गेम्स के दौरान नहीं, बल्कि इसके बाद खिलाडियों के घर ले जाने के लिए है.

ये भी पढ़ें

दादा ने ही किया पोते की प्रेमिका को प्रेग्नेंट, चाचा को बेटा समझ पालता रहा शख्स

HIV एंड AIDs से बचाव को हुई थी शुरुआत

ओलंपिक्स में खिलाड़ियों के बीच कंडोम बांटने की शुरुआत 1988 में हुई थी. ऐसा एड्स और एचआईवी को लेकर लोगों में जागरूकता लाने के लिए किया गया था. एक स्टडी के मुताबिक, ओलंपिक्स में आने वाले 75 प्रतिशत खिलाड़ी सेक्सयुअल एक्टिविटी में संलिप्त रहते हैं. इनमें से भी स्विमिंग में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ी इसमें ज्यादा संलिप्त रहते हैं. इसकी वजह है उनका खेल आयोजन के समापन से एक हफ्ते पहले ही खत्म हो जाता है. ऐसे में बाकी का समय वो अपने मौज-मस्ती में खर्च करते हैं.





Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment