फ्रूट जूस के जरिये कोरोना पॉजिटिव हो रहे स्टूडेंट, स्कूल से छुट्टी लेने को निकाला अनोखा जुगाड़

Share Now To Friends!!

बचपन स्कूल न जाने को लेकर हम सभी ने कभी न कभी कोई न कोई बहाना ज़रूर बनाया होगा. यहां तक कि बुखार लाने के लिए थर्मामीटर गर्म दूध में डालने और आंखें लाल करने की तमाम ट्रिक्स हर बच्चे को पता होती है. वक्त के साथ नई-नई बीमारियां सामने आ रही हैं और बच्चों की क्रिएटिविटी भी बढ़ती जा रही है. हैरानी की बात तो ये है कि जिन देशों में स्कूल खुल गए हैं, वहां बच्चे कोरोनावायरस (Coronavirus Positive Result) का भी पॉजिटिव रिजल्ट लाने की ट्रिक सीख चुके हैं. झूठा रिजल्ट दिखाकर आसानी से बच्चे स्कूल से छुट्टी मार लेते हैं.

वीडियो नेटवर्किंग साइट टिकटॉक (TikTok Viral Video) पर एक ऐसा ही वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें कोरोनावायरस किट में भी पॉजिटिव रिजल्ट (COVID-19 Test) लाने का हैक शेयर किया गया है. ये ट्रिक इतनी आसान और सस्ती है कि बच्चे धड़ल्ले से इसे इस्तेमाल करके स्कूल बंक कर रहे हैं. महज फ्रूट जूस की एक बोतल से कोरोना टेस्ट किट (Covid lateral flow Test) पॉजिटिव रिजल्ट दे रही है.

सोशल मीडिया पर हिट है वीडियो

वीडियो को @leanne_kenz नाम के टिकटॉक अकाउंट (TikTok Video) से शेयर किया गया है. इसे अब तक 4 लाख बार देखा जा चुका है. वीडियो में कैप्शन दिया गया है कि कोविड टेस्ट का झूठा रिजल्ट (False COVID-19 Positive Result) आने के बाद आप मुझे धन्यवाद कहेंगे. ये टिकटॉक वीडियो खास तौर पर छात्रों के बीच पॉपुलर हो चुका है. एक सेकेंडरी स्कूल की ओर से खुलासा किया गया है कि बच्चे इस हैक से कोविड पॉजिटिव रिजल्ट दिखाकर छुट्टी ले रहे हैं.

कैसे आता है झूठा रिजल्ट ?

वीडियो में कोविड रैपिड टेस्ट किट पर शख्स फ्रूट शॉट की बॉटल से जूस (Fruit Juice Hacks) डालता है और रिजल्ट विंडो में पॉजिटिव साइन के दौर पर दो लाइनें उभरकर सामने आ जाती हैं. किसी भी एसिड वाले जूस को डालने से एंटीबॉडी प्रोटीन को डिजॉल्व करके गलत रिजल्ट दिखा देता है. बच्चों को भले ही ये ट्रिक झूठ बोलने की वजह दे रही हो लेकिन टिकटॉक यूजर्स वीडियो को लेकर नाखुश हैं क्योंकि ये झूठा डेटा दिखाने को प्रमोट कर रहा है.

बिना PCR टेस्ट के रिजल्ट नहीं मानते स्कूल

लिवरपूल के एक स्कूल ने मेल ऑनलाइन को इस हैक के बारे में बताते हुए कहा कि तमाम स्टूडेंट्स इसका गलत फायदा उठा रहे हैं. बहुत से बच्चे ऑरेंज जूस की कुछ बूंदे कोविड किट पर डालकर पॉजिटिव रिजल्ट दिखाकर छुट्टी ले रहे हैं. उन्होंने ये भी कहा कि रैपिड टेस्ट के बाद PCR टेस्ट भी ये जानने के लिए कराया जा रहा है कि वाकई रिजल्ट सही है या झूठ.

Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment