बगीचे में छिपाकर लगा था मच्छर पकड़ने वाला जाल, सुबह अंदर फंसा मिला जंगली जानवर

Share Now To Friends!!

मच्छर पकड़ने के जाल में पांच घंटे तक लोमड़ी का बच्चा फंसा रह गया

यूके (United Kingdom) के वेस्ट ससेक्स (West Sussex) में एक कपल तब हैरान रह गया जब उनके घर के बगीचे में उन्हें एक छिपा हुआ जाल (Trap) दिखाई दिया. ये जाल सीमेंट (Concrete) का बना हुआ था और कपल को इसकी कोई जानकारी भी नहीं थी. इसे मच्छर पकड़ने के लिए बनाया गया था लेकिन इसमें फंस कोई और जानवर गया.

सोशल मीडिया (Social Media) पर अक्सर लोग अपने घरों में छिपे कमरे या ऐसी ही किसी छिपी चीज की स्टोरी शेयर करते हैं. कई ऐसे मामले भी सामने आते हैं जिनमें बेसमेंट (Basement) आदि में लोगों को दूसरी ही दुनिया नजर आती है. लेकिन हाल ही में यूके के वेस्ट ससेक्स में रहने वाले एक कपल ने अपने घर के बगीचे में छिपाकर बनाए गए बने सीमेंट के जाल को पहली बार देखा. कपल को इस जाल के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. उनकी नजर इसपर तब पड़ी जब उन्हें बगीचे से एक जानवर के चीखने की आवाज आई.

वेंडी ब्रेडमोर (Wendy Bradmore) और कीथ कोलिंस (Keith Collins) नाम ये कपल कुछ दिनों पहले ही नए घर में शिफ्ट हुआ था. बीते दिनों अचानक सुबह-सुबह इन्हें अपने घर के बगीचे से किसी के चीखने की आवाज आने लगी. जब कपल वहां पहुंचा तो अंदर एक सीमेंट के छोटे से जाल में उन्हें लोमड़ी का बच्चा फंसा हुआ नजर आया. ये बच्चा पांच घंटे तक जाल में फंसा था. उसे देखने के बाद कपल को पता चला कि उनके बगीचे में ऐसा कोई जाल बना हुआ है.

Youtube Video

पुराने जमाने का था जालकपल को इस जाल की कोई जानकारी नहीं थी. मिस ब्रेडमोर ने कहा कि सुबह उन्हें अपने बगीचे से आवाजें आई तब उन्होंने वहां फंसे इस बच्चे को देखा. जाल के अंदर एक केक का टुकड़ा पड़ा था. उसे ही खाने के लालच में ये बच्चा फंस गया होगा. कपल ने तुरंत RSPCA को मदद के लिए बुलाया, जिन्होंने काफी मशक्कत के बाद उसे बाहर निकाला. इतनी देर तक जाल में फंसे होने की वजह से बच्चे को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी. बच्चे का मुंह सिर्फ जाल से बाहर था और पूरी बॉडी फंसी हुई थी. जिस जाल से इसे निकाला गया वो पुराने समय में मच्छर पकड़ने के लिए इस्तेमाल किया जाता था. इसमें एक छोटे से छेद के अंदर कोई खुशबूदार चीज भरी जाती थी, जिससे मच्छर अंदर फंसकर कैद हो जाते थे.

रात के दो बजे से थी फंसी

कपल ने इस बच्चे को कई बार अपने घर के आसपास घूमते देखा था. लेकिन घटना वाले दिन रात के दो बजे ही ये बच्ची जाल में फंस गई थी. उसे निकालने के लिए रेस्क्यू टीम ने बड़ी सावधानी से जाल को काटा और आराम से लोमड़ी को बाहर निकाला. इसके बाद बच्चे को पानी पिलाया गया. इतनी देर तक फंसे होने की वजह से बच्चे की भी हालत खराब हो गई थी. उसे भी अब देखरेख में रखा जा रहा है.





Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment