बरगद का फल है काफी उपयोगी, हार्ट डिजीज से लेकर डायबिटीज तक को करता है कंट्रोल

Share Now To Friends!!

Health Benefits Of Banyan Fruit : बरगद का पेड़ यानी वट वृक्ष या बड़ का पेड़. आपने अपने घरों के आसपास इस विशालकाय पेड़ को जरूर देखा होगा. उत्‍तर भारत के कई राज्‍यों में तो इस पेड़ की पूजा भी की जाती है. आमतौर पर हमने देखा है कि इस पेड़ के नीचे सैंकड़ों की तादात में इसके फल  (Banyan Fruit) गिरे रहते हैं और पड़े पड़े ये सड़ जाते हैं. लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि ये फल हमारी सेहत (Health) के लिए कितना फायदेमंद (Benefits) है? जी हां, वनएमजी के मुताबिक, बड़गद के फलों में खनिज लवण भरे होते हैं जो उच्च रक्तचाप से लेकर कोरोनरी हृदय रोग को कंट्रोल करने तक में काफी उपयोगी होते हैं.

यही कारण है कि प्राचीन समय से ही भारतीय आयुर्वेद में इसका प्रयोग औषधियों के रूप में किया जाता है. इसके फल के अलावा बरगद के छाल, पत्‍ते, दूध और बीज भी कई रोगों के इलाज में काम आता है. इसका बोटैनिकल नाम फाइकस बेंगालेंन्सिस है. इसके फल में भरपूर मात्रा में कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, चीनी, फाइबर, प्रोटीन,विटामिन बी1,विटामिन बी3 होता है इसके अलावा इसके पत्‍तों में प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम और फास्फोरस पाया जाता है. आइए जानते हैं कि बरगद के फल के और क्‍या फायदे हैं.

इसे भी पढ़ें : काली मिर्च है इम्‍यूनिटी बूस्‍टर, भोजन में करेंगे ऐसे इस्‍तेमाल तो दूर रहेंगी बीमारियां

 

हार्ट के लिए फायदेमंद

बरगद के पेड़ के फल में पोटेशियम, मैग्‍नीशियम, फॉस्‍फोरस, ओमेगा 3 औेर 6 भरपूर मात्रा में होते हैं जो हेल्‍दी हार्ट के लिए बहुत जरूरी होते हैं. आमतौर पर हार्ट अैटक तब होता है जब धमनियां काम करना बंद कर देती हैं, इसकी वजह कई बार मानव शरीर में उच्च सोडियम स्तर का होना होता है. उच्च सोडियम स्तर धमनी को संकुचित करता है और पूरे शरीर में रक्त वितरण को धीमा कर देता है. जबकि बरगद के फल में मौजूद पोटैशियम सोडियम के स्‍तर को कम करने में कारगर है. इसमें कई ऐसे तत्‍व होते हैं जो रक्‍त चाप को कम करता है और कोरोनरी हार्ट डिजीज को रोकने के लिए उपयोगी है. ऐसे में अगर कोई दिन में एक बार भी बरगद के पेड़ के फल का सेवन करता है तो अचानक दिल का दौरा पड़ने का खतरा कम हो सकता है.

मधुमेह में फायदेमंद

बरगद के फल का चूर्ण लें. चूर्ण की मात्रा 10-20 ग्राम की मात्रा होनी चाहिए. इसमें बराबर मात्रा में मिश्री मिलाकर सुबह-शाम दूध के साथ सेवन करें. इससे मधुमेह में लाभ होता है.

बार बार पेशाब की समस्‍या का इलाज

बरगद के फलों के बीज को महीन पीस लें. इसे 1 या 2 ग्राम की मात्रा में, सुबह के समय गाय के दूध के साथ सेवन करें. इससे बार-बार पेशाब आने की समस्‍या दूर हो जाती है.

इसे भी पढ़ें : डायबिटीज पेशेंट के लिए बहुत फायदेमंद हैं जामुन के बीज, इस तरह करें इस्तेमाल

बढ़ाता है इम्यूनिटी

इम्‍यूनिटी के बारे में इन दिनों हर कोई जानता है और इसे बूस्‍ट करने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है. ऐसे में बरगद के फल इम्‍यूनिटी बढा़ने में बहुत फायदेमंद है. ये आपको कई बीमारियों से बचाता हैं और खासी, सर्दी, फ्लू आ‍दि से दूर रखता है.

पेट के रोग को करता है दूर

अगर आप दस्‍त और पेचिश से परेशान हैं तो बरगद के पत्ते की कलियां बहुत फायदेमंद है. यह पुराने दस्त और पेचिश के इलाज के लिए आयुर्वेद में उपयोग लाया जाता है.

Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment