मिलावटी चीजों से रहें सावधान, इन तरीकों से करें खाने-पीने की चीजों में मिलावट की पहचान

Share Now To Friends!!


आप कितने भी हेल्‍थ कॉन्शस क्यों न हों, अगर आप रोजाना मिलावटी भोजन (Food Adulteration) का सेवन कर रहे हैं तो आपके हेल्थ कॉन्शस होने का कोई फ़ायदा नहीं क्योंकि यह मिलावटी खाना आपकी सेहत के लिए जहर (Poisonous For Health) का काम करेगा. दरअसल जब हम बाजार से खाने का सामान खरीदते हैं तो उन्‍हें देखकर यह जरा भी संदेह नहीं किया जा सकता कि जो सामान हमारे हाथों में है वह नकली है. जी हां, यह सच है. बाजार में इन दिनों मिलावटी सामानों का हुजूम है जिसे आप आसानी से पहचान नहीं सकते लेकिन अगर आप इन नकली चीजों से बचना चाहते हैं तो हमारे पास इसके कई तरीके (Tips) हैं. यहां हम आपको बताते हैं कि आप किचन के सामान में हो रही मिलावटों को किस तरह घर (At Home) लाकर आसानी से पहचान सकते हैं और सेहत संबंधी समस्‍याओं से बच सकते हैं.शहद

-शहद की शुद्धता पहचानने के लिए शहद की एक बूंद को अंगूठे और उंगली के बीच रखें और तार बनाने का प्रयास करें. अगर शहद का तार मोटा है और अंगूठे पर जमा है तो वह शुद्ध है. नकली शहद पतला होता है. जिस वजह से इस प्रक्रिया में वह उंगलियों पर फैल जाता है.

-एक पतली लकड़ी पर रुई लपेट कर उस पर शहद लगाएं और उसे मोमबत्ती की आंच पर रखें. अगर रुई जलने लगे तो शहद शुद्ध होगा.लाल मिर्च पाउडरएक चुटकी लाल मिर्च को पानी से भरी कटोरी में डालें. अगर पाउडर पानी में तैरता है तो वह शुद्ध है, लेकिन अगर वह डूब जाए तो समझ लीजिए कि इसमें मिलावट है.

दूध

पैकेट दूध की शुद्धता जांचने के लिए किसी ठोस पदार्थ जैसे पत्थर पर दूध की एक-दो बूंद डालें. अगर दूध बह जाता है और उस जगह पर सफेद निशान पड़ जाते हैं तो दूध असली है. अगर दूध सिंथेटिक है और यूरिया मिला है तो वह गाढ़े पीले रंग का हो जाएगा.

-दूध को डालें और उसे सूंघें. अगर उसमें से डिटेर्जेंट वाली महक आए यानी इसमें मिलावट है.

इसे भी पढ़ें : स्‍ट्रॉन्‍ग इम्‍यूनिटी चाहिए तो पैक्‍ड फूड से बनाएं दूरी, नए शोध में हुआ खुलासा, जानें वजह

चावल

असली चावल की तुलना में प्लास्टिक चावलों में चमक ज्यादा होती है. नकली चावल एक जैसे आकार के होते हैं, जबकि असली चावल का आकार अलग अलग हो सकता है.

-नकली चावल आसानी से नहीं पकता जबकि असली चावल तुलना में जल्‍दी पकता है और उससे खुशबू भी आती है.

हरी सब्जियां

जब भी बाजार से हरी सब्जी जैसे- मटर, तरोई, पालक, बथुआ, सोया मेथी, शिमला मिर्च, भिंडी आदि खरीदें तो इसकी शुद्धता को पहचानने के लिए इन्हें थोड़ी देर के लिए पानी में डालकर छोड़ दें. अगर यह हरा रंग छोड़ने लगें तो समझिए कि इनमें मिलावट है.

धनिया पाउडर

असली नकली धनिया पाउडर की जांच करने के लिए एक ग्‍लास पानी में चुटकी भर धनिया पाउडर डालें. अगर पाउडर पानी के ऊपर तैरता है तो वह धनिया पाउडर पूरी तरह से मिलावटी है. मिलावटी धनिया पाउडर से बचने के लिए आप सूखे धनिया के बीज को घर पर लाएं और मिक्सी में पीस लें.

चाय पत्ती

चाय पत्ती को एक सफेद पेपर पर रखें और इस पेपर से इसे रगड़ें. अगर पेपर पर रंग लग रहा है यानी यह पूरी तरह से मिलावटी है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)



Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment