हिम्मत से भरी और हैरान करने वाली फिल्म है ‘पैडमैन’

Share Now To Friends!!

पैडमैन फिल्म का पोस्टर

हिम्मत से भरी और हैरान करने वाली फिल्म है ‘पैडमैन’

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 24, 2018, 3:59 PM IST

नवज्योत कौर

वो सुबह जब लक्ष्मी बिस्तर से उठी तो देखा कि चादर पर खून के निशान थे. देखकर चेहरे पर घबराहट और दिमाग में सवालों का घेरा छा गया. बात करे तो किस से. मां घर पर नहीं थीं और पिता का खौफ इतना था कि बात नहीं कर पाई. ये वो समय था जब टीवी पर व्हिस्पर और दूसरे सैनेट्री नैप्किन के एड आते थे, तो तुरंत टीवी बंद हो जाता था या फिर चैनल बदल दिया जाता था. मां के अलावा ऐसी बातें किसी से की ही नहीं जा सकती थीं.

पड़ोसी तक खबर पहुंचे तो बेटी को देखने वाली नज़रें बदलनी शुरू हो जाती थीं. बेटी का मासिक धर्म शुरू हो गया है, इस बात को सबसे छिपाना होता था. एक लड़की जिसे अपने साथ हो रहे इस बदलाव का ठीक से मतलब भी नहीं पता होता था, उसे इस बात के लिए शर्मिंदा होने का अहसास कराया जाता था. हालांकि मासिक धर्म से जुड़ा दर्द इससे कहीं ज्यादा और बड़ा है.

इसी मुद्दे पर अक्षय कुमार ने ये फिल्म पैडमैन बनाई है. ज्यादातर लोग सोच भी नहीं सकते कि जिस समाज में इस मुद्दे पर बात तक नहीं की जा सकती, वहीं उसी समाज में ऐसी फिल्म भी बनी है. GST लागू होने के बाद से महिलाओं के लिए पैड सस्ते करने की मांग भी हो रही है. मासिक धर्म के दौरान महिलाओं के लिए एक दिन के अवकाश की बात भी उठ चुकी है.कहा जा सकता है कि इस तरह के माहौल को बनाने में पैडमैन काफी योगदान है. पैडमैन के जरिये अक्षय कुमार ने महिलाओं से जुड़े उस मुद्दे को उठाया है, जिस पर समाज कभी बात करना पसंद नहीं करता है.

उम्मीद की जानी चाहिए कि ज्यादा से ज्यादा महिलाएं इस फिल्म को देखने के लिए सिनेमाघर का रुख करेंगी. हां ये सवाल भी जरूर हैं कि क्या वो अपने पिता और भाई के साथ ये फिल्म देख सकेंगी? ये सवाल भी है कि क्या उनके पति और बॉयफ्रेंड उनके साथ ये फिल्म देखने जाएंगे. इस बात का जवाब तो जनता ही देगी.

2018 में जरूर देखें ये फिल्में

डिटेल्ड रेटिंग

कहानी:
स्क्रिनप्ल:
डायरेक्शन:
संगीत:





Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment