54 साल के Budimir Sobat ने बनाया चौंका देने वाला विश्व रिकॉर्ड, हर कोई सुनकर कह रहा OMG!

Share Now To Friends!!

उन्होंने तीन साल पहले 24 मिनट तक पानी के अंदर रहने का गिनीज रिकॉर्ड बनाया था, जिसे अब खुद तोड़ दिया

54 साल के Budimir Buda Sobat ने एक नया विश्व रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है. वो 24 मिनट और 33 सेकंड तक बिना बाहरी ऑक्सिजन के पानी में रहे, जो सुनने में ही असंभव सा लगता है. उन्होंने तीन साल पहले 24 मिनट तक पानी के अंदर रहने का गिनीज रिकॉर्ड बनाया था, जिसे अब खुद तोड़ दिया और इसे 24 मिनट और 33 सेकंड दर्ज किया है.

क्रोएशिया (Croatia) के एक 54 साल के व्यक्ति बुदिमीर बुडा ओबोट (Budimir Buda Sobat) ने एक नया विश्व रिकॉर्ड (New World Record) बनाया है. वो 24 मिनट और 33 सेकंड तक सांस रोककर पानी में रहे, जिससे उनके नाम सबसे लंबे समय तक बिना बाहरी ऑक्सिजन के पानी में रहने का रिकॉर्ड दर्ज हो गया है. क्रोएशिया के सिसक शहर में बनाए गए इस रिकॉर्ड के दौरान वहां कई डॉक्टर्स, पत्रकार और उनके फैंस भी मौजूद रहे. उन्होंने पहले कुछ मिनट फ्रेश ऑक्सीजन पर हाइपरवेंटिलेटिंग करने के बाद बॉडी में ऑक्सीजन लेवल को बढ़ा लिया था. इसके बाद करीब आधे घंटे वो बिना ऊपर आए पानी के अंदर रहे, जो सुनने में असंभव सा लगता है. बता दें ये Sobat की कई सालों की प्रेक्टिस और ट्रेनिंग का नतीजा है, जिसके बाद उन्हें काफी तारीफें मिल रही हैं. लोग उन्हें देश के सबसे बहादुर लोगों में शुमार कर रहे हैं.

कुछ साल पहले Sobat ने अपने जुनून बॉडी बिल्डिंग को किनारे रख स्थैटिक डाइविंग (Static Diving) को गले लगा लिया था और जल्द ही वो दुनिया के टॉप 10 डाइवर्स में से एक बन गए थे. उन्होंने तीन साल पहले 24 मिनट तक पानी के अंदर रहने का गिनीज रिकॉर्ड बनाया था, जिसे अब खुद तोड़ दिया और इसे 24 मिनट और 33 सेकंड दर्ज किया है.

बता दें स्टैटिक एपनिया का इससे पहले विश्व रिकॉर्ड था  11 मिनट और 54 सेकंड का, जिसे 2014 में ब्रांको पेट्रोविक (Branko Petrovic) ने दुबई में बनाया था. हालांकि ये इस रिकॉर्ड से थोड़ा अलग था. इस बार Sobat को बॉडी ऑक्सीजन को बढ़ाने के लिए 30 मिनट पहले प्योर ऑक्सीजन लेने की परमिशन मिली थी, जो पहले नहीं दी जाती थी. लोगो का मानना है कि ये एक बड़ी हेल्प थी. इसी का करण है कि Sobat ये रिकॉर्ड बनाने में कामयाब हुए, भले ही अंतर सिर्फ 30 सेकेंड का ही था. लेकिन लगभग 30 मिनट पानी के अंदर बिना ऑक्सीजन के रहना आसान बात नहीं है. इसके लिए कड़ी प्रेक्टिस और मेहनत लगती है, जिससे शरीर को इस तरह तैयार किया जाता है कि वो धीमी गति से ऑक्सीजन इनहेल करें.

भले ही पहले प्योर ऑक्सीजन लिया गया हो बावजूद इसके स्टैटिक एपनिया किसी के लिए भी बड़ा जोखिमभरा होता है. खासतौर पर इंसान के दिमाग के लिए, जिसे पानी के अंदर ऑक्सीजन का सामान्य स्तर नहीं मिलता है. बता दें कि लगभग 18 मिनट के बाद, Sobat को ऑक्सीजन की कमी के कारण कई तरह की परेशानी आने लगी थी जैसे मांसपेशियों में ऐठन शुरू हो गई थी. इसका कारण उनकी 54 साल की उम्र भी थी. Sobat को हमेशा खुद की लिमिट से आगे जाकर काम करने के लिए उनकी 20 साल की बेटी, सासा इंस्पायर करती है. सासा को बचपन से ऑटिज्म और मिर्गी के दौरे पड़ते हैं. जो उनके पापा Sobat को और आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है. Sobat  इस रिकॉर्ड से जमा किए पैसे से 2020 दिसंबर में क्रोएशिया में आए तीव्र भूकंप से गंभीर रूप से प्रभावित लोगों की मदद करना चाहता हैं.





Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment