OMG! तीन टांगों वाले इस शख्स ने 77 सालों तक जी अपनी जिंदगी, लोगों के लिए बना रहा रहस्य

Share Now To Friends!!

सोशल वायरल. आपने दुनिया में बहुत सारी अजब-गजब चीजें देखी होंगी, लेकिन क्या आपने कभी तीन टांगों वाला इंसान देखा है? प्रकृति ने दुनिया के हर इंसानों को एक जैसा बनाया है. सबके दो पैर, दो हाथ, दो आंखें, एक नाक, एक मुंह बनाए हैं. धरती पर सारे लोग लगभग एक जैसे ही हैं, सिवाए रंग-रूप और कद-काठी छोड़कर. इसके बाद भी कुछ इंसान प्रकृति ने ऐसे पैदा किए हैं, जिन्हें समाज में सबसे अलग तरीके से देखा जाने लगता है. ऐसे ही एक शख्स का जन्म 19वीं शताब्दी में हुआ था. यह शख्स दुनिया में सबसे विचित्र था. दरअसल, इस इंसान की दो नहीं बल्कि तीन टांगें (Three Legs) थे. 18 मई 1889 को इटली (Italy) के सिसिली द्वीप पर फ्रांसेस्को फ्रैंक लेंटिनी नामक इस शख्स का जन्म हुआ था.

ये शख्स दुनियाभर में पैदा होने वाले बच्चों से असाधारण था, जिसकी तीन टांगें थीं. आप सोच रहे होंगे कि तीन टांगों की वजह से यह इंसान ज्यादा दिनों तक जिंदा नहीं रहा होगा. लेकिन यह गलत है. इस सभी के बावजूद फ्रांसेस्को धरती पर 77 साल तक जिंदा रहे. अपने 12 भाई-बहनों में फ्रांसेस्को पांचवें नंबर के थे. वह जब बहुत छोटे थे, तब उनके माता-पिता ने उन्हें उनके चाचा-चाची के पास रहने के लिए भेज दिया था. यहां उनका भरण पोषण हुआ था. उनके करियर की शुरुआत भी यहां हुई थी. आप यह जानकर आश्चर्य में पड़ जाएंगे कि लेंटिनी की तीन टांगों के अलावा, उनके चार पैर तथा दो गुप्तांग भी थे. उनका चौथा पैर उसकी तीसरी टांग के घुटने के पास से निकल हुआ था. वह पूरी तरह विकसित नहीं हो पाया था.

‘डॉक्टरों ने दी थी चेतावनी’

बताया जाता है कि लेंटिनी एक प्रकार के विकार से पीड़ित थे. इसमें उनके शरीर से आधा जुड़वां बच्चा जुड़ा हुआ था. वो ‘आधा बच्चा’ उनकी रीढ़ की हड्डी के पास से जुड़ा हुआ था. फ्रैंक लेंटिनी को अपनी पूरी जिंदगी तीन टांगों, चार पैरों तथा दो गुप्तांगों के साथ ही गुजारनी पड़ी. उन्होंने कभी भी अपने अतिरिक्त अंगों को हटवाने की कोशिश नहीं की थी. डॉक्टरों ने साफ कह दिया था कि अगर वह अपने अतिरिक्त अंगों को हटवाते हैं तो उन्हें लकवा मार सकता है और वो हमेशा के लिए अपाहिज हो सकते हैं, क्योंकि उनकी जो तीसरी टांग थी, वो उनकी रीढ़ की हड्डी के बिल्कुल पास थी. फ्रैंक जब 12 साल के हुए तब विंसेनजो मैगनैनो नामक एक सर्कस के मालिक ने उनको सर्कस में भर्ती होने का सुझाव दिया था. फ्रैंक को ये सुझाव अच्छा लगा था.

फ्रैंक लेंटिनी (फाइल फोटो)

स्टूल की तरह करते थे तीसरी टांग का इस्तेमाल

फ्रैंक इसके बाद सर्कस में भर्ती हो गए थे. बहुत ही जल्द फ्रैंक दर्शकों की पहली पसंद बन गए थे. भले ही उनकी तीन टांगें थीं, लेकिन उनके पास गजब की फुर्ती थी. अपनी तीसरी टांग से वह फुटबॉल को किक मारते थे, जो लोगों को काफी पसंद आता था. वह हाजिर जवाब भी थे और अपने जवाब से दर्शकों का दिल जीत लेते थे. अपनी तीसरी टांग का इस्तेमाल फ्रैंक स्टूल की तरह करते थे. वह उस पर बैठ जाते थे. लोग हमेशा उनसे सवाल पूछते थे कि वह अपने लिए तीन पैरों वाला जूता कहां से खरीदते हैं? जिस पर फ्रैंक का जवाब होता था कि वह हमेशा दो जोड़ी जूता खरीदते हैं और एक अतिरिक्त जूता अपने एक पैर वाले दोस्त को दे देते हैं.

ये भी पढ़ें: युवक को देखते ही तेंदुए ने कर दिया हमला, Video देखें फिर क्या हुआ

कैसी थी फ्रैंक की शादीशुदा जिंदगी

बता दें कि साल 1907 में फ्रैंक ने थेरेसा मुरे नामक एक महिला से शादी भी की थी. इस शादी से उन्हें चार बच्चे भी हुए थे. हालांकि दोनों का साथ जिंदगी भर का नहीं रहा. साल 1935 में ये दोनों अलग हो गए थे. इसके बाद फ्रैंक ने हेलेन शुपे नामक एक दूसरी महिला से शादी कर ली थी, जो मरने तक उनके साथ रही. 21 सितंबर 1966 को 77 साल की उम्र में फ्रैंक की अमेरिका के टेनेसी में मौत हो गई.

Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment