UP TET 2019 में दिखा देश की मौजूदा राजनीतिक स्थिति का असर, पूछे गए ये सवाल

Share Now To Friends!!


यूई टीईटी संपन्न

यूपी की शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी टीईटी की पहली पारी खत्म हो गयी है. न्यूज़ 18 के पास पहली पाली की परीक्षा में पूछे गये सवालों की पूरी कॉपी है. हालांकि ये कॉपी अभ्यर्थियों को भी दी गयी है. न्यूज़ 18 ने ऐसे ही एक अभ्यर्थी से प्रश्नपत्र पत्र का पूरा एक सेट लिया है.

लखनऊ. यूपी में हुई शिक्षक पात्रता परीक्षा (UP TET 2019) और देश की मौजूदा राजनीतिक स्थितियों के बीच क्या कोई संबंध है? दोनों के बीच सीधे संबंध होने का सीधे तौर पर दावा तो नहीं किया जा सकता लेकिन, परीक्षा में पूछे गये सवाल कुछ और ही कहानी कह रहे हैं.

पिछले दिनों देश में दो तरह की राजनीतिक चर्चा जोरों पर रहीं. पहला राष्ट्रपति शासन, जो कि जम्मू कश्मीर और महाराष्ट्र में सरकार गठन से पहले लगाया गया था. और दूसरा नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का पास होना… इस कानून के पास होने के बाद विपक्षी पार्टियों ने सत्तारूढ़ भाजपा पर संविधान द्वारा दिये गये बराबरी के हक पर हमले का आरोप लगाया था.

पूछे गए ये सवाल

यूपी में बुधवार को हुई शिक्षक पात्रता परीक्षा की पहली पारी में इन दोनों ही मुद्दों से जुड़े सवाल पूछे गये. संविधान से जुड़े जो सवाल पूछे गये, उनमें इन्हीं दोनों टॉपिक से जुड़े सवाल हावी रहे. कुल 150 सवालों में से संविधान से जुड़े 5 सवाल पूछे गये. पूछा गया है कि धारा 356 का प्रयोग पहली बार कब और किस राज्य में किया गया. सभी जानते हैं कि संविधान की धारा 356 राष्ट्रपति शासन से जुड़ा हुआ है. इसके अतिरिक्त पूछा गया है कि राज्यपाल की नियुक्ति के लिए न्यूनतम उम्र कितनी होनी चाहिए.साथ ही ये भी पूछा गया है कि किस देश में सबसे लचीला संविधान है. समता का अधिकार संविधान के किस अनुच्छेद में है-ये भी सवाल पूछा गया है. इन सवालों को देखकर ऐसा लग रहा है जैसे देश में चल रही मौजूदा राजनीतिक गतिविधियों की झलक टीईटी प्रश्नपत्र पर भी पड़ा है.

UP TET 2019

यूपी टीईटी प्रश्न पत्र

यूपी की शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी टीईटी की पहली पारी खत्म हो गयी है. न्यूज़ 18 के पास पहली पाली की परीक्षा में पूछे गये सवालों की पूरी कॉपी है. हालांकि ये कॉपी अभ्यर्थियों को भी दी गयी है. न्यूज़ 18 ने ऐसे ही एक अभ्यर्थी से प्रश्नपत्र पत्र का पूरा एक सेट लिया है.

डेढ़ सौ सवालों वाले इस क्वेशचन पेपर को पांच भागों में बांटा गया है. पहला भाग बाल विकास और शिक्षण पद्धति पर आधारित है. वहीं दूसरा भाग भाषा के तहत हिन्दी का और तीसरा भाग अंग्रेजी का है. इसके विकल्प के रूप में संस्कृत और उर्दू हैं. चौथा भाग गणित का और पांचवा भाग पर्यावरणीय अध्ययन से जुड़ा हुआ है. सभी भागों से बराबर बराबर तीस तीस सवाल पूछे गये हैं.

ये भी पढ़ें:लखनऊ में वकील की सरेआम पीट-पीटकर हत्या, 1 गिरफ्तार, 4 आरोपी फरार

UP TET 2019: STF की कई जिलों में ताबड़तोड़ कार्रवाई, अब तक 12 लोग गिरफ्तार








Source link


Share Now To Friends!!

Leave a Comment